makke kee khetee kaise karen( मक्के की खेती कैसे करें 2022 में पूरी जानकारी हिंदी में)

हेलो दोस्तों आज हम आप सभी को बताने वाले हैं मक्के की खेती मक्के की खेती किस प्रकार करनी चाहिए और कौन सी नस्ल की करनी चाहिए जहां दोस्तों इस पोस्ट में आपको हम मक्के की खेती के बारे में पूरी जानकारी देंगे हिंदी में 

आज हम इस पोस्ट में बताएंगे आप सबको की खेती मक्के की किस प्रकार करें खड़ी फसल या फिर रवि फसल में दोनों मौसम में आप कैसे खेती कर सकते हैं बहुत ही उन्नत तरीके से मकई की खेती कर सकते हैं 30 से 10 जून के बारे में कितने प्रकार के गीत आते हैं उनको कैसे नियंत्रण कर सकते हैं चलिए फिर इस पोस्ट को आगे की ओर बढ़ते हैं

मक्का

मक्का खरीफ की फसल की बहुत ही फार्मर एक खेती है परंतु सिंचाई के साधन पर्याप्त मात्रा में तो आप रवि की सीजन में भी खेती कर सकते हैं मक्का की इसके अलावा झूठ और जुलाई महीना में धार्मिक कर सकते हैं और आप सर्दियों के लिए अनिकी रवि के सीजन के लिए अक्टूबर और नवंबर महीना बेस्ट है इसके अलावा यदि आप जायत पर जाना चाहते हैं तो गर्मियों पर आप फार्मर एक और मार्च के आसपास आप मक्के की खेती कर सकते हैं मैंने तीन तीन बताएं तीनो बेस्ट हैं इसके अलावा बात करते हैं 

भूमि और जलवायु

मक्का की जो फसल है उधर एवं आर्द्र जलवायु युद्ध के लिए सबसे सफल मानी गई है और मिर्जा का जो पीएच मान है 5 पॉइंट 5 से 7 बहुत ही अच्छा माना गया है और लगभग सही प्रकार की मिट्टी सफलतापूर्वक मक्के की खेती कर सकते हैं लेकिन जो अगर लेकिन बरसात के सीजन की बात करें तो ऐसे ऐसे मात्रा में अधिक बरसात हो जाए वह जाती है तो उत्तम जल प्रकाश वाली मिट्टी दोनों चाहिए यानी कि अपनी ऐसे खेतों से पानी तुरंत निकल जाए तो मक्के की खेती करना चाहिए अब खेत तैयार इस बारे में मैं कहूंगा कि एक से दो ट्राली गोबर की खाद अंतिम जुताई भरा बिछड़कर जूता समतल खेत को रोटावेटर से करा दें और रूट तो आप अच्छे तैयार हो चुका है


उन्नत किस्में

एकदम से जो बढ़िया है उसका चयन आप कर सकते हैं लेकिन जो हम जो लाते हैं जो बढ़िया काफी अच्छा उपयोग अत्य उत्पादन है और आप दोनों दोनों रित्व म कर सकते हैं चाहे रवि की फसल हो या खरीफ की जैसे पायोनियर जो आता है पीड़ित 3102 जी हां दोस्तों हल्की मिट्टी पर भी आप इसकी खेती कर सकते हैं 90 से 100 दिनों पर पीते 30 + 2 फसल तैयार हो जाती है मक्के की इसके जो धोने का चरण है साहिब से जिस चमकदार होता है और इसका जो उसका उत्पादन है 20 कुंटल से 30 कुंटल 1 एकड़ से की दर से होता है और एक-एक कर पर 7 किलोग्राम की दर और हमको एक एक कार में 7 किलोग्राम बराबर बुवाई कर देनी चाहिए पायोनियर 3302 यह भी बढ़िया बड़े के समय जून-जुलाई महीने के और आप जोन 

पौधे की दूरी

पौधे की दूरी जो हमको रखनी है 8 इंच से 10 इंच रखनी है और मक्के की लाइन की दूरी 1 फीट से दो रखनी है लाइन से लाइन की दूरी और कतार से कथा की दूरी 2 फीट और प्लांट अरे के पौधे की पौधे से दूरी पौधे की पौधे से दूरी 8 से 10 इंच रखनी है विदाई के समय जो आप हाथ देते हैं कि कहने का मतलब मक्के की जब बुवाई करते हैं तो सीताराम इसमें सिम के सहायता से तो दो बोरी ऐसे सिंगर फास्ट डाल देना है पाउडर मशीन में बढ़िया रहेगी जो बढ़िया है दानेदार फार्म इन दोनों को कौन में शंकर के आप बिजाई कर दीजिए बढ़िया जो आपका जो मतलब है अंकुर 81 तरीके से होगा और बढ़िया फसल होगा और बढ़िया हरी फसल रहेगी और बात करने 



बीज उपचार

बीच आप उस प्रकार उपचार करें कि बीज अंकुर आना ट्राेगों कर्मों से आप बीज का उपचार कर सकते हैं कांकेर बीज जो ठीक तरीके से उनके आना हो

सिंचाई

देखिए मक्के की खेती यह कैसी फसल है गर्मियों के लिए अधिक सिंचाई की आवश्यकता पड़ेगी अधिक व्यवस्था होनी चाहिए सिंचाई के साधन होनी चाहिए और बरसात के लिए जाहिर सी बात है सिंचाई की कम से कम जरूरत पड़ती है आवश्यकतानुसार हमको सिंचाई यानी कि बारिश हो जाए अधिक तो फिर लेकिन गर्मियों के सीजन में जो बात की जाए तो अधिक सिंचाई की आवश्यकता होती है गर्मी के समय में 15 दिन के अंतराल आप सिंचाई कर सकते हैं सिंचाई करेंगे तो आप अच्छे से मेंटेनेंस कर पाएंगे

Sulpur zinc s npk 

खाद जो है सल्फर और जिंक जरूर दीजिए इससे क्या होगा उत्पादन मैं वृद्धि होती है


खरपतवार नियंत्रण

अगर आप लेवर या मजदूर से खरपतवार निकाल सकते हैं तो आपके लिए बहुत ही अच्छा रहेगा अगर आप नहीं निकाल पा रहे हैं तो खरपतवार नाशक के लिए कंपाइल कंपनी का लोडर खरपतवार कर के नाम से आप जो आप इस इमेज से देख सकते हैं इसको आप एक-एक कर पर 100 से 120 एम एल 11 के की दर से इस प्रेस करना चाहिए जो लोड है इसके 3 फॉर्म टाइप से होते हैं तीनों को आप मिक्स करके एक टंकी में कर लेना और पेट 120ml एक-एक कर पर को 200 लीटर पानी पर कर कर देना इस प्रेस जब आप के मक्का के जो फसल है लगभग घायल बात की जाए तो एक से डेढ़ फीट मक्के की फसल होती है या फिर यूं समझ सकते हैं कि 25 से 30 दिन की आप की फसल हो जाए तो पतवार नौशाद को चला सकते हैं ध्यान रखना आपको पूरी पहले चला लेना है ताकि आपको बहुत ही बड़ी रिजल्ट मिले वालों ने चलने के बाद भी भारत अखबार में काम करना है चाहिए यही आपकी मक्के की फसल छोड़ कर के सब फसल पर नियंत्रण कर लेती है

                              धन्यवाद


 

Post a Comment

Previous Post Next Post

Contact Form